Agarbatti Business In Hindi : अगरबत्ती बिजनस कैसे शुरू करें

Agarbatti ka Business Kaise Kre ?

 जैसा की हम सब जानते है, 2021 में कोरोना महामारी ने बहुत से लोगों को प्रभावित किया है |

इसके कारण बहुत सारे लोगों को अपने काम और नौकरी से हाथ धोना पड़ा, तो अब आप बहुत कम पूंजी लगाकर आप अपना छोटा सा बिजनस शुरू कर सकते है। 

आज हम जिस बिजनस की बात कर रहे उसका नाम है:-Agarbatti Business

अगरबत्ती बिजनस कैसे शुरू करें?

अगरबत्ती का बिजनस शुरू करना निश्चित रूप से स्माल स्केल इंडस्ट्री (SSI) के तहत सबसे आकर्षक बिजनस में से एक है।

इस बिजनस को आप कम निवेश और न्यूनतम कच्चे माल के साथ भी शुरू कर सकते है|

खासकर अगर आप ग्रामीण इलाकों में से है, तो इसे शुरू करने का जरूर सोचे।

अगरबत्ती को हमेशा पवित्र उत्पादों के रूप में माना जाता है,जो धार्मिक गतिविधियों जैसे प्रार्थना और पूजा, के साथ-साथ ध्यान, योग, आराम, आदि के लिए सहायता और योगदान में काम आता है।

Agarbatti Business Plan

किसी भी बिजनस को शुरू करने से पहले एक Business Plan बनाना आवश्यक कार्य है। बिजनेस प्लान बिजनस के प्रकृति का वर्णन करता है|

और आगे Financial Institution, सरकार से सब्सिडी, बिजनस लोन , टर्म लोन या वर्किंग कैपिटल लोन लेने में मदद करता है।

चलिए जानते है:- Agarbatti Business Plan कैसे बनाए|

कंपनी को रेजिस्ट्रार ऑफ कंपनी (ROC) से रजिस्टर करें|

अगरबत्ती बिजनस को कानूनी रूप से चलाने के लिए , बिजनस के मालिक को कंपनी, फर्म या निर्माण इकाई के रूप में अपना बिजनस रजिस्टर करना |

अगरबत्ती बिजनेस को कंपनी अधिनियम की धारा 609 के तहत रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (आरओसी) के साथ रजिस्टर किया जाता है|

आप एक प्राइवेट कंपनी या पब्लिक लिमिटेड कंपनी,  पार्ट्नर्शिप फर्म, सीमित देयता भागीदारी, आदि के रूप में रजिस्टर कर सकते है।

लाइसेंस के लिए आवेदन करें|

Agarbatti business licence

अगरबत्ती बिजनस शुरू करने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता हर राज्य में अलग-अलग हो सकती है|

इसलिए बिजनस के मालिकों को संबंधित राज्य के अनुसार निर्देशित नियमों को पढ़ना आवश्यक है|

नीचे उल्लेख एक अगरबत्ती बिजनस शुरू करने के लिए आवश्यक लाइसेंस की सूची है:

कंपनी रेजिस्ट्रेशन: अगरबत्ती बिजनस शुरू करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कदम यह है कि आप ROC के तहत कंपनी को रजिस्टर करें|


EPF रेजिस्ट्रेशन : ईपीएफ रेजिस्ट्रेशन की आवश्यकता तब होती है यदि फर्म, कंपनी या विनिर्माण इकाई(Manufacturing Unit) में 20 से अधिक कर्मचारी हों।


ESI रेजिस्ट्रेशन: कर्मचारी राज्य बीमा (ईएसआई) पंजीकरण की आवश्यकता होती है, अगर फर्म के कर्मचारियों की ताकत 10 से अधिक कर्मचारी हैं।


फैक्ट्री लाइसेंस: यदि व्यवसाय के मालिक बड़े पैमाने पर विनिर्माण इकाई (Manufacturing Unit) को स्थापित करने की योजना बना रहे हैं, तो फैक्ट्री लाइसेंस और NOC की आवश्यकता होती है।


जीएसटी रेजिस्ट्रेशन: यह प्रत्येक बिजनस धारक के लिए अनिवार्य रेजिस्ट्रेशन है, क्योंकि वस्तुओं और सेवाओं के लिए जीएसटी नंबर प्राप्त करना अनिवार्य है।


प्रदूषण प्रमाणपत्र: यह राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से प्राप्त किए जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण प्रमाणपत्रों में से एक है, क्योंकि यह साइट सर्वेक्षण करता है और यदि आश्वस्त हो, तो व्यवसाय शुरू करने की अनुमति प्रदान करेगा।


SSI रेजिस्ट्रेशन: छोटा स्केल इंडस्ट्री को भी रजिस्टर करना अनिवार्य है भले ही फर्म या निर्माण इकाई SSI के अंतर्गत नहीं आती हो।


ट्रेड लाइसेंस: भारत में किसी भी प्रकार के व्यापार को करने के लिए, व्यापार के मालिकों या व्यापारियों को स्थानीय अधिकारियों से ट्रेड लाइसेंस प्राप्त करने की आवश्यकता होती है।

ट्रेड लाइसेंस हर राज्य में अलग-अलग होती है|

कैपिटल इनवेस्टमेंट की व्यवस्था करें|

अगरबत्ती बिजनस को कम से कम लागत और बुनियादी कच्चे माल तक सीमित करके शुरू किया जा सकता है।

Agarbatti Business को शुरू करने के लिए आवश्यक प्रारंभिक निवेश लगभग 5 लाख से 10 लाख लग सकते है|

अगरबत्ती बनाने का व्यवसाय शुरू करने के लिए कम से कम 8 से 10 लोगों की जरूरत पड़ेगी , जिसमें व्यावसायिक आवश्यकताओं के अनुसार उत्पादन प्रबंधक, मजदूर, डिलीवरी बॉय, एकाउंटेंट, क्लर्क आदि शामिल होंगे।

मशीनरी / उपकरण खरीदे

बिजनस के शुरुआत में उपयोग की जाने वाली मशीनरी की औसत लागत 1 से 5 लाख रुपए तक होगी|

अगरबत्तियां बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली मशीनरी / उपकरण तुलनात्मक रूप से बड़े हैं|

उन्हें रखने के लिए विशाल क्षेत्रों या कारखाने के शेड की आवश्यकता होती है।

शिकायतों से बचने के लिए मशीनरी या उपकरणों को आवासीय इलाकों से दूर रखा जाना चाहिए|

अगरबत्ती निर्माण में काम आने वाली कच्ची सामग्री खरीदे |

अगरबत्ती बनाने में उपयोग की जाने वाली कच्ची सामग्री (Raw Material) मोटे तौर पर कई अगरबत्ती निर्माण इकाइयों, कच्चे माल के सप्लायर्स और होल-सेल बाजारों में उपलब्ध हैं।


अगरबत्तियां बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली छड़ें काफी हद तक आयात की जाती है|


अगरबत्ती बनाने के लिए प्रयुक्त कच्चे माल की सूची इस प्रकार है:

• बाँस की डंडी

• सुगंधित रसायन

• आवश्यक तेल (चंदन)

• इत्र (Perfume)

• बुरादा (Sawdust)

• सफेद चिप्स

• गिगातु

• पैकिंग सामग्री

• अन्य सामग्री जैसे कलर पाउडर जिसमें चारकोल, क्रूड, जिकिट और नरगिस पाउडर शामिल हैं|

उत्पाद बेचने के लिए सही स्थान का पता लगाना

अगरबत्ती बेचने के लिए सबसे अच्छे स्थान पवित्र स्थानों, मंदिरों, चर्चों और बाजारों के पास हैं|

जिनमें स्थानीय बाजारों, किराने की दुकानों, खुदरा दुकानों, थोक विक्रेताओं आदि शामिल हैं।

बिजनस के मालिक विभिन्न ई-कॉमर्स प्लेटफार्मों और वेबसाइटों पर भी ऑनलाइन अगरबत्ती बेच सकते हैं|

Agarbatti business With Buyback Agreement

अगर आप चाहते है, आपके पूरे अगरबत्ती को कंपनी अच्छे कीमत पर खरीदे तो आपको उन्हे बहुत अच्छा प्रोडक्ट बनाकर देना होगा|

इसके साथ आपको अपनी अगरबत्ती पूरी सूची देनी होगी जो कुछ इस प्रकार होगी:-

फीचर :-

मुख्य घरेलू बाजार :-

किसके द्वारा दिया गया :-

उत्पाद कब जोड़ा गया :-

ब्रांड :-

Profit

अगरबत्ती बनाना बहुत ही लाभदायक बिजनस है|

आप 1 मशीन से प्रतिदिन लाभ के रूप में आसानी से 700 – 1000 रुपये कमा सकते हैं।

  • लेकिन सिर्फ 1 मशीन से आप ज्यादा कमाई नहीं कर पाएंगे|
  • आपको कुछ अच्छे रिटर्न देखने के लिए कम से कम 3 या 4 मशीनों के साथ शुरुआत करनी होगी।
  • कच्चा अगरबत्ती आपको 10 से 12 रुपये / किलो का लाभ देगा।
  • दूसरी ओर सुगंधित अगरबत्ती आपको लगभग 25 से 30 रुपए प्रति किलोग्राम अधिक लाभ प्रदान करेगी|
  • ज्यादा से ज्यादा कमाई आपकी ब्रांडिंग और मार्केटिंग रणनीति पर निर्भर करता है।

Conclusion

तो यह थी Agarbatti Business In Hindi की पूरी जानकारी, यदि आप इस व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं तो आगे बढ़ें और इसे अभी शुरू करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *