Success Story Of Ankiti Bose : अंकिती बोस की सफलता का राज

हैलो दोस्तों कैसे है ?आपलोग|

 हमारे ब्लॉग मे आपका स्वागत है। 

आज मैं आपको एक ऐसी महिला के बारे मे बताने जा रहा हूँ. जिनहोने 27 साल की उम्र में लगभग  1 बिलियन डॉलर की  कंपनी खड़ी कर दी। इनका नाम Ankiti Bose है , जो एक ई-कॉमर्स फैशन वेबसाईट की सह-संस्थापक(को-फाउन्डर) और सीईओ है।जिसका नाम Zilingo (जिलिंगों ) है|

 वह लगभग 1 बिलियन डॉलर के मूल्य के साथ एशिया मे स्टार्टअप चलाने वाली पहली महिला है।

Biography (जीवनी)

Ankiti Bose (अंकिती बोस) का जन्म 1992 में हुआ था (उम्र 29 वर्ष ;2021 में ),मुंबई में हुआ था| 

उन्होंने अपनी स्कूलिंग पोदार स्कूल से की |

उन्होंने मुंबई में सेंट जेवीयर्स कॉलेज में भाग लिया और अर्थशास्त्र और गणित में स्नातक की पढ़ाई पूरी की |

Physical Appearance (भौतिक उपसतिथि)

हाइट (लगभग):5’5″

बालों का रंग : ब्लैक  

आँखों का रंग :डार्क  ब्राउन 

Social Status (सोशल स्टेटस )

Ankiti bose instagram







1. इंस्टाग्राम पर उनके लगभग 21 हजार फालोअर है|

Link:-Ankiti Bose

2. ट्विटर पर उनके लगभग 7000 फालोअर है|

Link :-Twitter

Family

अंकिती के पिता मुंबई में एक तेल कंपनी में इंजीनियर के रूप में काम करते हैं |

उनकी माँ एक यूनिवर्सिटी मे व्याख्याता के रूप में काम करती थी |

अंकिती अपने माता -पिता की इकलौती संतान हैं |

Career

अपना कॉलेज पूरा करने के बाद,अंकिती ने मैनेजमेंट कंसल्टेंट के  रूप बैंगलोर में मैकिनसे एंड कंपनी ज्वाइन की, जहां उन्होंने 2012 से 2014 तक काम किया |

बाद में 2014 में, उन्होंने निवेश विश्लेषक के रूप में बैंगलोर के सिकोइया कैपिटल में प्रवेश लिया | 

वह अपने सहयोगियों के साथ बैंकॉक की यात्रा पर थी जब उसने चाटूचक बाजार का दौरा किया और देखा की स्थानीय दुकानों में अनलाइन उपसतिथि नहीं थी |

एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था 2014 में ,वह ध्रुव कपूर से  एक पार्टी में मिले, जो  एक IIT स्नातक  थे |

ध्रुव बंगलोर में गेमिंग स्टूडियो कीवी इंक मे सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में काम कर रहे थे |

उन दोनों ने अपना startup(उद्यम) शुरू करने का फैसला किया और कुछ महीनों के बाद दोनों ने अपनी नौकरी छोड़ दी |

अंकिती और ध्रुव ने अपनी बचत का निवेश किया और 2015 में अपनी खुद की कंपनी ‘जीलिंगों ‘ शुरू करने के लिए निवेशकों से धन जुटाया लगभग चार वर्षों में जीलिंगों यूनिकॉर्न व्यवसाय बन गया (एक स्टार्ट-उप जिसकी कीमत $1 बिलियन डॉलर या उससे अधिक थी )|

जीलिंगों का मुख्यालय सिंगापूर में है, जिसका प्रबंधन सीईओ अंकिता कपूर द्वारा किया जाता है,और इसका तकनीकी कार्यालय बंगलोर में है,जिसका प्रबंधन मुख्य  प्रौद्योगिकी (Chief Technology Officer)ध्रुव कपूर द्वारा किया जाता है |

नेट वर्थ

Zilingo Company
A Sale Banner From Zilingo

‘जीलिंगों’ का नेट वर्थ लगभग  $970 मिलियन है |

Facts(तथ्य)

  • वह शराब पीने की शौकीन है|
  • अंकिती एक यूनिकॉर्न कारोबार (1 बिलियन डॉलर या उससे ज्यादा मूल्य का स्टार्ट-उप ) सह करने वाली पहली भारतीय महिला बनीं|
  •  2018 में, 30 वर्ष से कम आयु के व्यवसाय में सबसे प्रभावशाली युवा लोगों में,अंकिती और ध्रुव को प्रसिद्ध अमेरिकी पत्रिका ‘फोर्ब्स’ में लिस्ट किया गया था|
  • 2019 में ,40 वर्ष से कम आयु के कारोबार में अंकिती को फोर्ब्स में सबसे प्रभावशाली और प्रेरणादायक युवाओं के रूप मे लिस्ट किया गया था |
  • कथित तौर पर, दक्षिण एशियाई और दक्षिण एशियाई देशों में अंकिती ने अपने व्यवसाय को विभिन्न देशों में फैलाया है|
          तो दोस्तों कैसी लगी Ankiti Bose की सफलता की कहानी कमेन्ट मे जरूर बताए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *