Meaning of freelancing in Hindi: फ्रीलांसिंग क्या है ? फ्रीलांसिंग कैसे शुरू करें ?

Meaning of freelancing in Hindi,

साल  2020 में कोरोना महामारी की वजह से बहुत से लोगों को अपने काम और नौकरी से हाथ धोना पड़ा|

ऐसे में हमे यह जानना बहुत जरूरी है, की हमारे पास आगे आने वाले समय में काम करने का कौन सा विकल्प मौजूद है:-

इसका सबसे अच्छा विकल्प फ्रीलांसिंग करना है|

Meaning Of Freelancing in hindi

फ्रीलांसिंग को आसान भाषा में समझे तो, जब आपके पास कोई स्किल/कला है, उस स्किल को काम के रूप में आप किसी और के लिए करते है और इसके बदले आपको पैसे मिलते है|

इसे ही फ्रीलांसिंग कहते है |

Example :- आप लिखने में अच्छे हो, आपको कंटेन्ट राइटिंग आती है, तो बहुत सारे कॉम्पनियाँ और छोटे बिजनस को कंटेन्ट राइटर्स की जरूरत होती है | 

अगर आप इनके लिए काम करते है तो इसके बदले आपको पैसे मिलते है|

Freelancing kya hai

फ्रीलांसिंग का मतलब है एक ऐसा प्रोजेक्ट जिसमें आप एक Self-Employed इंसान के जैसा काम करते है, और अपनी सर्विस लोगों को प्रदान करते है|

फ्रीलांसिंग मुख्य रूप से एक कान्ट्रैक्ट सिस्टम पर काम करता है, इसके वजह से आपको रोज टाइम देखकर ऑफिस जाने की कोई जरूरत नहीं है|

फ्रीलांसिंग का मतलब नौकरी करना नहीं है, वास्तव में, यह एक ऐसा करिअर बन गया है जिसे आप घर बैठे शुरू कर सकते है|

फ्रीलांसिंग एक कान्ट्रैक्ट बेस्ड Profession है, जहां व्यक्ति अपने ग्राहकों को सेवाएं प्रदान करने के लिए अपने स्किल्स और विशेषज्ञता का उपयोग करता है।

यहाँ ग्राहक कंपनी से लेकर व्यक्ति तक कोई भी हो सकते हैं।

फ्रीलांसिंग कैसे शुरू करें ?

फ्रीलांसिंग शुरू करने से पहले निम्नलिखित बातों का ध्यान रखे:-

अपना गोल सेट करें

अपने गोल को स्पष्ट रूप से परिभाषित कीजिए, यह समझने के लिए समय निकालें कि आप फ्रीलांसिंग पर विचार क्यों कर रहे हैं

सुनिश्चित करें कि आपका गोल लक्ष्यों को प्राप्त करने की सही दिशा में है।

जब आप फ्रीलांसिंग शुरू करेंगे, तो आप छोटे लक्ष्यों और बेंचमार्क पर ध्यान देना शुरू कर सकते हैं, जो आपके फ्रीलान्स बिजनस को सफल बनाने में मदद करेंगे।

अपने स्किल को बढ़ाए ।

फ्रीलांसिंग शुरू करने से पहले यह सुनिश्चित करें की आप किसी स्किल में माहिर है, और उस कला को सही तरीके से करने में सक्षम है,

एक प्रॉफ़िट वाला Niche खोजे

फ्रीलांसिंग काम करने के लिए आपको 1 Niche खोजना होगा जिसमें आप माहिर हो, आपको वह काम करना अच्छा लगता हो, और इसके साथ उस काम की जरूरत मार्केट में ज्यादा हो |

जिस काम के बदले लोग पैसे देने के लिए राजी हो|

अपने टारगेट कस्टमर को पहचानें |

अपने टारगेट कस्टमर को पहचाने, उनकी जरूरत को समझे ,उनके काम को समझे और कोई कंपनी है तो उसके प्रकृति का पता करें की वह कैसे काम करती है|

इससे आपको कस्टमर से काम मिलने की संभावनाएं बढ़ जाएंगी|

एक हाई Quality पोर्टफोलियो वेबसाइट बनाए

आप जिस प्लेटफॉर्म पर फ्रीलांसिंग का काम शुरू करने वालें है, उससे पहले अपना Quality पोर्टफोलियो जरूर बनाए जिसमे आपसे जुड़ी सारी जानकारियाँ हो |

निम्नलिखित जानकारी :-

आपका पूरा नाम:-
आपका कॉलेज:-
आपका अनुभव :-
आपके पिछले काम :-
आपका सर्टिफिकेट :-
रेट ऑफ चार्ज:-

सही मूल्य चार्ज करें।

अपने क्लाइंट से बिल्कुल सही मूल्य चार्ज करें, शुरू में कोशिश करें की उनके लिए फ्री में काम कर के दे, इससे आपके काम का भरोसा बढ़ेगा और भविष्य में आपको इसका फायदा मिलेगा |

Scope of Freelancing in hindi

अगर हाल के दिनों में देखा जाए, तो भारत में फ्रीलांसिंग का भविष्य बहुत अच्छा है। 

इतनी संख्या के बाद बहुत से लोग अपने काम को अपनी मर्जी से और अपने वक्त पर करना चाहते है|

मैकिन्से के एक रिपोर्ट से पता चलता है कि Developed मार्केट में लगभग 20% से 30% Professional फ्रीलांस में लगे हुए हैं।

भारत में, 2025 तक फ्रीलांस इंडस्ट्री के $ 20 से 30 बिलियन तक बढ़ने का अनुमान है।

भारत दुनिया में तीसरे नंबर का स्टार्टअप है। इस वजह से कॉम्पनियाँ भी नए लोगों रोजगार देने के बजाए अपने काम को फ्रीलांसर के द्वारा करवाते है|

फ्रीलांसिंग का मुख्य कारण :-

फ्रीलांसर प्रभावी और सस्ते होते हैं |

फ्रीलांसर को खोजना बहुत आसान होता है |

फ्रीलांसरों के साथ काम करना कम जोखिम भरा होता है |

Freelancing jobs in Hindi

freelancing in hindi

ऐसे कई स्किल हैं जो फ्रीलांसिंग के लिए पूरी तरह से अनुकूल हैं।

हमारी लोकप्रिय फ्रीलांस स्किल की सूची पर एक नज़र डालें जो आपके भविष्य को अच्छा बनाने में मदद कर सकती हैं।

* डेवलपर (कोडर, प्रोग्रामर)

प्रोग्रामिंग वर्तमान में, दुनिया में सबसे अधिक डिमांड वाला करियर में से एक है। चूंकि प्रत्येक बिजनस , संगठन और क्रिएटिव प्रोजेक्ट को एक मजबूत ऑनलाइन फुट्प्रिन्ट की आवश्यकता होती है, इसलिए इसे बनाने के लिए प्रोफेशनल की आवश्यकता होती है।

* डिजाइनर

क्रिएटिव डिज़ाइन करना एक विशेष रूप से लोकप्रिय क्षेत्र है जिसमें ग्राफिक डिज़ाइन, गति(Motion) या वेब एसेट निर्माण शामिल हो सकते हैं।

* लेखक या कॉपीराइटर

राइटिंग अभी भी GIG Economy में सबसे लोकप्रिय नौकरियों में से एक है।

कंटेन्ट को मॉडर्न मार्केटिंग का किंग घोषित किए जाने के बाद , कंपनियों के पास उच्च गुणवत्ता वाले आर्टिकल , ब्लॉग, गाइड, प्रेस रिलीज और अन्य प्रकार की लिखित कंटेन्ट के उत्पादन के लिए भारी बजट मौजूद है।

* एसईओ प्रोफेशनल

Search Engine Optimization (एसईओ), जिसे कभी-कभी सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM)भी कहा जाता है, डिजिटल दुनिया में एक रोमांचक क्षेत्र है।

फ्रीलांसिंग में यह सबसे लोकप्रिय कामों में से एक है , जिसमें लिंक बिल्डिंग, Google एल्गोरिदम, कीवर्ड Etc. की समझ शामिल है।

इसके अलावा आप और भी बहुत सारे काम कर सकते है, जैसे :-

मार्केटिंग

अनुवादक (Translator)

फोटोग्राफर / वीडियोग्राफर

पब्लिक रीलेशन

एच आर प्रबंधन (HR Management)

अकाउन्टन्ट

Freelancing websites in Hindi

freelancing in hindi

* फाइवर (Fiverr)

* उप वर्क (Upwork)

* फ्रीलांसर

* People Per Hour

* डिज़ाइनहिल

* लिंक्डइन और लिंक्डइन प्रो फ़ाइंडर

* We Work Remotely

Advantage of Freelancing In Hindi

फ्रीलांसिंग शुरू करने के बहुत सारे फायदे है :-जैसे

* ग्राहकों की स्वतंत्रता (Freedom Of Client)

फ्रीलांसरों के पास उन ग्राहकों को चुनने की अनूठी क्षमता है, जिनके साथ वे काम करते हैं। 

वे एक साथ कई लोगों के काम भी कर सकते है |

* वर्क लोड का नियंत्रण

फ्रीलांसिंग का एक अन्य लाभ आपके Workload को चुनने की क्षमता है। 

आप जितना चाहें उतना काम कर सकते हैं, और आप उन प्रोजेक्ट्स को चुन सकते हैं जो आपके लिए सार्थक हैं।

* लचीलापन (Flexibility)

आप पूरे साल फूल टाइम वर्क करना चाहते है या हाफ टाइम करना चाहते है, तो उस निर्णय को करने के लिए आपके पास लचीलापन और नियंत्रण है।

*स्वतंत्रता

फ्रीलांस जॉब स्वतंत्रता प्रदान करती हैं। न केवल आप 9 To 5 के जीवन से मुक्त हैं, आपके पास अकेले काम करने की क्षमता भी है,

Disadvantage of freelancing In Hindi

हर सिक्के के दो पहलू होते है, इसीलिए फ्रीलांसिंग के फायदे के साथ कुछ नुकसान भी है:- जैसे

* टैक्स

टैक्स फ्रीलांसिंग का नुकसान हो सकता है, इसलिए अपनी दरों को निर्धारित करते समय नियमों और कानूनों पर ध्यान देना सुनिश्चित करें।

* लाभ का अभाव (Lack Of Benefit)

फ्रीलांसर सेल्फ Employed होते है , वे आमतौर पर अपने स्वयं Insurance को खोजने और फन्डिंग के लिए जिम्मेदार हैं।

* जिम्मेदारी

जब आप एक फ्रीलांसर होते हैं, तो आपको बिजनस चलाना, ग्राहक प्राप्त करना , अपने ग्राहकों का प्रबंधन करना , बिलिंग / जमा करना , और टैक्स का भुगतान करना पड़ता है ।

जिसके लिए हर कोई तैयार नहीं है, और इन कार्यों को संभालने में सक्षम भी नहीं है।

यहाँ आप अपने ब्रांड के मालिक खुद हैं, और आपको एक बिजनस की तरह अपने फ्रीलांस कैरियर को चलाने की आवश्यकता है।

* अकेलापन

एक फ्रीलांसर के लिए आम बात है की उसे अकेले ही पूरा काम करना होगा |

Conclusion

तो यह थी Meaning of freelancing in Hindi/ Freelancing में करिअर कैसे बनाए से जुड़ी पूरी जानकारी|

Freelancing से जुड़े कोई भी सवाल हो तो कमेन्ट में जरूर पूछे|

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों के शेयर करें|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *