Marketing Kya hai ? | कंपनी मार्केटिंग का इस्तेमाल क्यूँ? और कैसे करती है ?

Marketing kya hai, आजकल हर बड़ी कॉम्पनियाँ अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए मार्केटिंग का इस्तेमाल करती है, और इसके ऊपर ढेर सारा पैसा खर्च करती है|

चलिए आज के इस आर्टिकल में जानते है :- Marketing kya hai

Marketing kya hai

मार्केटिंग का मतलब अपने प्रोडक्ट को अच्छे से मार्केट रिसर्च और विज्ञापन सहित प्रोडक्ट और सर्विस को बढ़ावा देने और बेचने की क्रिया है।

मार्केटिंग आपके ग्राहकों को समझने और उनके साथ संबंध बनाने और बनाए रखने की प्रक्रिया है।

इसे आसान भाषा में समझे तो जब आप कोई प्रोडक्ट बनाते है, 

तब उस प्रोडक्ट को सही ग्राहक के पास , सही समय पर और सही मूल्य पर बेचना ही मार्केटिंग कहलाती है |

Marketing full Details in hindi

Marketing kya hai, इसे आसान भाषा में समझने के बाद इसे डीटेल में जानना बहुत आवश्यक है|

मार्केटिंग एक ऐसा प्रोसेस है, जिसे कंपनी अपना प्रोडक्ट बेचने के लिए कस्टमर के साथ अच्छे रिश्ते बनाती है,

उनसे लगातार संपर्क में रहते है, अपने कस्टमर को समझने की पूरी कोशिश करते है,

और अपने कस्टमर को प्रोडक्ट के रूप में अच्छी वैल्यू प्रदान करने की कोशिश करती है |

मार्केटिंग एक ऐसी Activity है, जो एक कंपनी किसी भी उत्पाद, सेवा की खरीद या बिक्री को बढ़ावा देने के लिए करती है।

क्यूंकी यह बिजनस में सबसे ज्यादा जरूरी चीजों में से एक है |

कॉम्पनियाँ अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए अन्य बिजनस (B2B Marketing) या सीधे यूजर (B2CMarketing ) का इस्तेमाल करते हैं।

Types Of Marketing in Hindi

Marketing kya hai जानने के बाद जानते है, आखिर मार्केटिंग के कितने Types है |

वैसे तो आपको गूगल पर 100 से भी अधिक मार्केटिंग के टाइप्स मिल जाएंगे , 

लेकिन इस आर्टिकल में आपको टॉप 5 की जानकारी प्राप्त होगी :-

* Influencer Marketing

Influencer मार्केटिंग उन व्यक्तियों पर ध्यान केंद्रित करता है, जो संभावित खरीदारों पर प्रभाव डालते हैं|

इसको आसानी से समझे तो जब आप किसी सेलिब्रिटी , स्पोर्टसपर्सन या ऐक्टर को प्रोडक्ट का Ad करते हुए देखते है, 

और उसे देखकर उस प्रोडक्ट को खरीदते है, तो उसे ही Influencer मार्केटिंग कहते है |

* रिलेशनशिप मार्केटिंग

रिलेशनशिप मार्केटिंग का इस्तेमाल कॉम्पनियाँ इसीलिए करती है, 

ताकि वे अपने ग्राहक का भरोशा जीत सके और कस्टमर उनके प्रोडक्ट के साथ बने रहे |

* ग्रीन मार्केटिंग

ग्रीन मार्केटिंग उन प्रोडक्ट के विकास को बढ़ावा देता है, जो पर्यावरण की नजर में सुरक्षित माने जाते हैं

ग्रीन मार्केटिंग का उपयोग ऐसे प्रोडक्ट के उत्पादन, प्रचार, पैकेज और पुनः प्राप्त करने के प्रयासों का वर्णन करने के लिए किया जाता है|

जिससे पर्यावरण को कोई नुकसान ना उठाना पड़े |

* कीवर्ड मार्केटिंग

कीवर्ड मार्केटिंग में उन स्पेशल शब्द को ध्यान में रखा जाता है, जो लोग मोबाईल पर खोजते है|

इस मार्केटिंग का एक महत्वपूर्ण लाभ यह है, कि यह कंपनी को सही समय पर सही मैसेज के साथ सही लोगों तक पहुंचने की क्षमता देता है।

* गुरिल्ला मार्केटिंग

गुरिल्ला मार्केटिंग एक अपरंपरागत और रचनात्मक मार्केटिंग है, 

जिसका उद्देश्य न्यूनतम रिसोर्स का इस्तेमाल करके अधिकतम परिणाम प्राप्त करना है। 

नीचे इसकी फोटो दी गई है, ताकि आप बेहतर तरीके से समझे :-

guerrilla marketing
Source Credit :- Wikipedia

मार्केटिंग के कुछ बेस्ट उदाहरण

आपने रेड बुल सॉफ्ट ड्रिंक जरूर देखा या पिया होगा , इसकी मार्केटिंग की एक मजेदार कहानी है|

रेड बुल अपने शुरुआत के दिनों में जब वह अपने सॉफ्ट ड्रिंक को ज्यादा नहीं बेच पा रही थी,

तो इन्होंने रेड बुल के ढेर सारे खाली बोतल को डस्ट्बिन और सड़कों पर रख दिया, 

जिसकी वजह से लोगों को लगा, यह सॉफ्ट ड्रिंक बहुत डिमांड में है, और लोग उसे खरीदने लगे,

उनकी इस मार्केटिंग स्ट्रैटिजी से रेड बुल की बिक्री 25 %  तक बढ़ गई थी|

जैसा की आप सभी जानते होंगे Starbucks अपने महंगे प्रोडक्टस के लिए हमेशा चर्चे में रहता है खासकर :- कॉफी ,

इन्होंने एक बार अपने सभी कस्टमर के कॉफी Mug में उनका गलत नाम लिखकर दिया ,

जिसको देख सभी कस्टमर ने अपने सोशल मीडिया में डालकर Starbucks के कॉफी Mug का प्रचार करने लगे, 

जिसके वजह से इनको काफी ज्यादा फायदा हुआ था |

Marketing से जुड़े कुछ Myths

  • मार्केटिंग और Advertising एक ही चीज है|
  • हर कोई आपका ग्राहक है|
  • यदि एक मार्केटिंग प्लान किसी अन्य कंपनी के लिए काम करता है, तो यह हमारे लिए भी काम करेगा|
  • आपको मार्केटिंग प्लान की आवश्यकता नहीं है|
  • छोटे बिजनस को मार्केटिंग करने की आवश्यकता नहीं है|
  • मार्केटिंग करना आसान है और किसी के द्वारा भी किया जा सकता है|
  • मार्केटिंग केवल नए ग्राहकों को प्राप्त करने के लिए है|
  • मार्केटिंग तेजी से परिणाम देते है|
  • अच्छी Quality वाले प्रोडक्टस को मार्केटिंग की जरूरत नहीं है|

Marketing से जुड़े रोचक तथ्य

Facts About marketing in hindi
  • INFLUENCER मार्केटिंग इंस्टाग्राम पर $ 1बिलियन की इंडस्ट्री हो गई है|
  • कुल मार्केटिंग बजट का 75% हिस्सा डिजिटल मार्केटिंग के लिए खर्च किया जाएगा |
  • लोग सेल्स और मार्केटिंग को एक समझते है, लेकिन ये दोनों अलग-अलग चीज़े है |
  • YOUTUBE पर Facebook और ट्विटर से ज्यादा Engagement है|
  • फेसबुक यूजर हर दिन इंटरनेट पर 8 बिलियन वीडियो देखते हैं|
  • Snapchat पर एक दिन में 10 बिलियन वीडियो देखा जाता है।
  • 2 बिलियन लोग हर दिन कंटेंट के लिए फेसबुक सर्च करते हैं।
  • 4 बिलियन लोग कम्यूनिकेशन के लिए मैसेजिंग ऐप का उपयोग करते हैं।
  • Newspaper की तुलना में ब्लॉग पढ़कर खरीदारी करने की संभावना 64% ज्यादा है|
  • प्रति माह 15 से अधिक ब्लॉग लिखने वाली कंपनियों को 5 गुना अधिक ट्रैफ़िक मिलता है।
  • गूगल के टॉप 10 पेज की औसत कंटेन्ट की लंबाई 2000 शब्द है।
  • यदि कोई पोस्ट 1,500 शब्दों से अधिक है, तो उसे 68.1% अधिक ट्वीट और 22.6% अधिक फेसबुक लाइक मिलते हैं।
  • फोटो वाले आर्टिकल को 94% अधिक व्यूज मिलते हैं।
  • लैंडिंग पेज पर वीडियो का उपयोग करके Conversion को 86% तक बढ़ाया जा सकता है|
  • वीडियो को सामान्य पोस्ट की तुलना में 267% अधिक लिंक मिलते हैं।
  • 90% दर्शक 90 सेकंड के भीतर वीडियो देखना बंद कर देते है।
  • कस्टमर का एवरेज Attention स्पैन 8 सेकंड का है, जिसका मतलब है, कस्टमर को अपने ब्लॉग्स, वीडियो आदि पर रोकने के लिए आपके पास सिर्फ 8 सेकंड का वक्त है |

Conclusion

तो यह था Marketing kya hai से जुड़ी सारी जानकारी, अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें,

और क्या आप Marketing से जुड़ी कोई ऐसी बात जानते है, जो शायद हम बताना भूल गए हो,तो कमेन्ट मे जरूर बताए |.

3 thoughts on “Marketing Kya hai ? | कंपनी मार्केटिंग का इस्तेमाल क्यूँ? और कैसे करती है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *