ड्रॉप शिपिंग क्या है ? What Is DropShipping Business In Hindi?

ड्रॉपशिपिंग क्या है?

ड्रॉप शिपिंग क्या है? यह एक अनलाइन रीटेल बिजनस का  well Organized तरीका है, जिसमें विक्रेता (Seller) ग्राहक के आदेशों को स्वीकार करता है, लेकिन बेचे जाने वाले सामान को स्टॉक में नहीं रखता है।

इसके बजाय, वह सप्लाइ चैन मैनेजमेंट के रूप में, निर्माता, wholesaler, एक अन्य रिटेलर, या एक सप्लाइ हाउस के संपर्क में रहते है | जो ग्राहक को सीधे माल भेजते हैं, जो ऑर्डर और उनके शिपमेंट विवरण का ख्याल रखते है और समान को ग्राहक तक पहुचाते है|

जैसे, रीटेल बिजनस किसी प्रोडक्ट की मार्केटिंग और बिक्री के लिए जिम्मेदार होता है, लेकिन उत्पाद की गुणवत्ता, भंडारण, इन्वेंट्री या शिपिंग पर रीटेल बिजनस का बहुत कम या कोई नियंत्रण नहीं होता है।

ड्रॉप शिपिंग बिजनस एक गोदाम को बनाए रखने की जरूरत और उसकी लागत को खत्म करता है | जिसके बाद आप अपने प्रॉफ़िट के अनुसार कस्टमर को प्रोडक्ट बेच सकते हो|

उदाहरण :सप्लायर से आपने 400Rs के जूते को अपने वेबसाइट पर 600Rs की कीमत पर लिस्ट कर रखा है ,और अगर किसी ग्राहक ने खरीदा तो 200Rs आपका प्रॉफ़िट और सप्लायर उस समान को ग्राहक तक पहुचाता है|

ड्रॉप शिपिंग काम कैसे करता है?

how dropshipping works

ड्रॉप शिपिंग के काम करने की प्रक्रिया काफी आसान है। इसमें 3 सरल चरण शामिल हैं:

* स्टोर का मालिक अपने ऑनलाइन स्टोर पर उन उत्पादों(products) को प्रकाशित करता है जिन्हें वह बेचना चाहता है। ग्राहक उत्पाद को देखता है और वेबसाइट पर ऑर्डर देता है।

* रिटेलर ऑर्डर के बारे में विवरण प्राप्त करता है और ग्राहक के ऑर्डर का विवरण मैन्युअल रूप से या स्वचालित(Self ) रूप से करने के बाद ड्रॉपशिप सप्लायर को फोरवॉर्ड कर देता है।

* फिर सप्लायर स्टोर मालिक की ब्रांडिंग के साथ ग्राहक को सीधे आवश्यक उत्पादों का Packaging और शिपिंग कर देता है।

यह एक आकर्षक शिपिंग बिजनेस मॉडल है क्योंकि यह स्टोर के मालिक की भंडारण(storage) लागत को समाप्त करता है। ड्रॉप शिपिंग के साथ, आपको सभी इन्वेंट्री खरीदने की जरूरत नहीं है बस आपको, सप्लायर को सिर्फ सही ऑर्डर डीटेल देने की जरूरत है। इसके अलावा, आपको एक बिजनस लोकेशन की भी आवश्यकता नहीं है।

ड्रॉप शिपिंग बिजनस शुरू करने के लिए क्या-क्या चाहिए ?

dropshipping business requirements

 एक ड्रॉप शिपिंग व्यवसाय शुरू करने के लिए बहुत ज्यादा स्टार्टअप फंड की जरूरत नहीं  हैं, इसके लिए आपको भारी मात्रा में मेहनत करनी होगी।

* एक अच्छा Niche सिलेक्ट करें।

आपका Niche ऐसा होना चाहिए जो लोगों की आवयकता और जिसमें आपकी रुचि हो  |

अगर आपकी रूचि ऐसी चीज़ों में है, जो किसी प्रोडक्ट रेंज में केंद्रित नहीं है, तो उसे बाज़ार में लाना मुश्किल होगा।

यदि आपके द्वारा चुने गए Niche को लेकर आप इच्छुक और उत्साहित नहीं हैं, तो आप जल्द ही उस काम से बोर होने लगेंगे और बीच में ही छोड़ देंगे ,

क्योंकि ड्रॉप शिपिंग बिजनस को सफलतापूर्वक चलाने के लिए बहुत वक्त और मेहनत लगता है।

* प्रतियोगी का अच्छे से रिसर्च करें।

याद रखें, आप ड्रॉप शिपिंग बिजनस के साथ-साथ रीटेल के दिग्गज जैसे वॉलमार्ट और अमेज़ॅन के साथ प्रतिस्पर्धा करेंगे।

यह वह जगह है जहां संभावित, बहुत सारे ड्रॉप शिपर्स गलत हो जाते हैं, क्योंकि वे एक ऐसे प्रोडक्ट की तलाश करते हैं जिसका कोई मुकाबला नहीं है।

हमेशा, उन उत्पादों की तलाश करें जिनमें प्रतिस्पर्धा है, क्योंकि यह एक संकेत है कि उसकी मांग ज्यादा है और बिजनस मॉडल टिकाऊ है।

* एक अच्छे सप्लायर से संपर्क करें।

गलत सप्लायर के साथ साझेदारी करना आपके बिजनस को बर्बाद कर सकता है|

इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आप इस कदम को बहुत सोच-समझ के उठाएं। अच्छे से पूरा रिसर्च करें।

अधिकांश ड्रॉप शिपिंग सप्लायर विदेशों में स्थित हैं, उनसे कम्यूनिकेशन(Communication)करना बहुत महत्वपूर्ण है,काम करने की गति और एक-दूसरे को अच्छे से समझने की क्षमता को पता करना भी महत्वपूर्ण है ।

यदि आप एक संभावित सप्लायर की कम्यूनिकेशन की क्षमताओं से 100 प्रतिशत आश्वस्त नहीं हैं, तो आगे बढ़ें और अपनी खोज को जारी रखें।

नोट: संभावित निर्माताओं और सप्लायर्स के साथ पहचान करने और कम्यूनिकेशन करने के लिए अलीबाबा सबसे बड़े ऑनलाइन संसाधनों में से एक बन गया है।

* अपनी ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाएं।

Shopify एक ऐसी वेबसाइट है जो एक ड्रॉप शिपिंग वेबसाइट को बनाने में समर्थन करता है|

इसके उपयोग से आप आसानी से अपनी वेबसाइट को बनाकर लॉन्च कर सकते है।

इसमे आपको वेबसाइट बनाने के लिए कोई टेक्निकल जानकारी नहीं चाहिए , और इसके पास बिक्री बढ़ाने में मदद करने के लिए बहुत सारे ऐप्स हैं।

* ग्राहक अधिग्रहण(Acquisition) की योजना बनाएं।

एक अच्छा उत्पाद और एक वेबसाइट होना बहुत अच्छा है, लेकिन ग्राहकों के बिना, आपके पास कोई व्यवसाय नहीं है।

संभावित ग्राहकों(Potential Customer) को आकर्षित करने के कई तरीके हैं, लेकिन सबसे प्रभावी विकल्प फेसबुक ऐड कैम्पैन शुरू करना है।

यह आपको शुरू से ही बिक्री और रेविन्यू उत्पन्न करने का मौका देता है, जो आपके बिजनस को तेजी से बढ़ाने में योगदान कर सकता है।

फेसबुक आपको अपने प्रस्ताव को सीधे टारगेट कस्टमर के सामने आपके प्रोडक्ट को रखने की अनुमति देता है। यह आपको तुरंत सबसे बड़े ब्रांडों और रीटेल विक्रेताओं के साथ प्रतिस्पर्धा करने की क्षमता देता है|

* ऐनलाइज़ और आप्टमाइज़ ।

आपको अपने व्यवसाय को विकसित करने के लिए उपलब्ध सभी डेटा और मीट्रिक को ट्रैक करने की आवश्यकता है।

इसमें Google Analytics ट्रैफ़िक और फ़ेसबुक कन्वर्शन पिक्सेल डेटा शामिल हैं|

यह जानने के लिए कि ग्राहक की उत्पत्ति कहाँ से हुई और उन्होंने आपकी वेबसाइट पर कौन सा पथ लिया, जिससे अंततः बिक्री हुई -यह आपको यह बताता है कि क्या काम करता है और क्या नहीं करता है।

ड्रॉपशिपिंग बिजनस इन इंडिया

Dropshipping business in India

भारत में ड्रापशीपिंग, एक नए Entrepreneurs के लिए ई-कॉमर्स व्यवसाय शुरू करने के लिए एक प्रभावी तरीका है।

ड्रॉपशीपिंग बिजनस कम जोखिम वाला बिजनस मॉडल है, जो बिना इन्वेंट्री (Inventory) स्टोर किए प्रोडक्टस को ऑनलाइन बेचने की अनुमति देता है| और उन प्रोडक्टस को शिप करता है|

ड्रॉपशीपिंग का सबसे अच्छा हिस्सा यह है कि आप अपने ग्राहकों के उत्पादों को केवल तब खरीदते हैं जब वे आपके स्टोर पर खरीदारी करते हैं| यह आपके इनवेस्टमेंट की लागत को कम करता है|

भारत की ईकॉमर्स बिक्री 51% की वार्षिक दर से बढ़ रही है| और यह ऑनलाइन रीटेल सेलर्स के लिए सबसे बड़ा अवसर है। और 2022 तक, यह उम्मीद है कि ईकॉमर्स की सेल्स रेविन्यू(Revenue) $ 120+ बिलियन से ज्यादा होगी।

ड्रॉपशीपिंग के फायदे और नुकसान क्या हैं?

pros and cons of dropshipping business

बहुत से लोग यह बिजनस शुरू करते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि इसे चलाना आसान होगा।

वे कहते हैं। “कोई इन्वेंट्री नहीं, कोई समस्या नहीं!”

लेकिन यह सच नहीं है, यह बिल्कुल भी “आसान” नहीं है। क्यूंकी यह बिजनस अपने समस्याओं के सेट के साथ आता है।

उसी के साथ, DropShipping भी रीटेलर्स और होलसेलर्स के लिए कई समस्याओं को हल करती है।

आइए ड्रॉपशीपिंग के फायदे और नुकसान पर एक नज़र डालें कि क्या यह आपके व्यावसायिक समस्याओं को हल करेगा या नहीं।

ड्रॉपशीपिंग के फायदे

* कम स्टार्टअप लागत

एक गोदाम को स्टॉक करने के लिए बहुत अधिक पूंजी की आवश्यकता होती है। आप ड्रापशीपिंग का उपयोग करके अपने व्यवसाय को शुरू कर सकते है|

एक व्यापक इन्वेंट्री खरीदने या बेचने की उम्मीद करने के बजाय, आप शून्य इन्वेंट्री के साथ ड्रापशीपिंग व्यवसाय शुरू कर सकते हैं और तुरंत पैसा बनाना शुरू कर सकते हैं|

* इन्वेंट्री की कम लागत

यदि आपके पास और वेयरहाउस स्टॉक है, तो इन्वेंट्री की लागत आपकी सबसे अधिक लागतों में से एक है।

ड्रॉपशीपिंग आपको इन मुद्दों से बचने और अपने ग्राहक आधार को बढ़ाने और अपने ब्रांड के निर्माण पर ध्यान केंद्रित करने की अनुमति देता है।

* लो ऑर्डर फुलफिलमेंट कॉस्ट

ऑर्डर को पूरा करने के लिए आमतौर पर आपको गोदाम, लोकेशन , ट्रैक, लेबल, पिक एंड पैक और अपने स्टॉक को शिप करने की आवश्यकता होती है।

लेकिन ड्रापशीपिंग एक तीसरी पार्टी को उस सब का ध्यान रखने देता है।

इस सिस्टम में आपका एकमात्र काम यह सुनिश्चित करना है | कि Supplier आपके ग्राहक के आदेश को अच्छे समझे | बाकी सब उनके द्वारा संभाला जाएगा|

* कम जोखिम वाले अधिक उत्पादों को बेचें और उनका परीक्षण करें

एक भौतिक(Physical) इन्वेंट्री की बाधाओं और इसके साथ जुड़े लागतों के बिना, ड्रॉपशीपिंग आपको अपनी इन्वेंट्री को जल्दी से , आसानी से और सस्ते में अपडेट करने की अनुमति देता है।

यदि आप जानते हैं कि एक प्रोडक्ट किसी अन्य रिटेलर के लिए अच्छा कर रहा है, तो आप तुरंत अपने ग्राहकों को अपने गोदाम में आने के लिए इंतजार किए बिना इसे अपने वेबसाइट पर पेश कर सकते हैं।

ड्रॉपशीपिंग आपको बिना जोखिम के नई वस्तुओं का परीक्षण करने की अनुमति देता है। आप Supplier को केवल उसी प्रोडक्ट के पैसे देते हैं जिसे ग्राहक ने खरीदा हैं।

ड्रॉप शिपिंग के नुकसान

* ऑर्डर फुलफिलमेंट और लीड टाइम्स पर कम नियंत्रण

भले ही आप भण्डारण स्टॉक की लागत का भुगतान नहीं करते हैं, लेकिन आप असंतुष्ट ग्राहकों के लिए भुगतान करेंगे।

जिन निर्माताओं और होलसेलर्स के साथ आप व्यापार करते हैं, वे आपके स्टॉक के प्रबंधन और शिपिंग के लिए जिम्मेदार हैं।

यदि वे अच्छे तरीके से काम नहीं करते हैं, तो ग्राहक आपसे शिकायत करता है और आपके प्रतियोगी से सामान खरीदता है।

यदि आप एक ड्रिपशीपिंग व्यवसाय शुरू करते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप उच्च-गुणवत्ता वाले भागीदारों के साथ काम करें।

* अन्य लोगों के स्टॉक पर निर्भरता

नए उत्पादों को तुरंत वेबसाइट पर पेश करना या धीमी गति से बिकने वाले उत्पादों को बेचना बंद करने में सक्षम होने के नाते ड्रापशीपिंग एक प्रमुख लाभ है।

लेकिन इसमें जोखिम यह है कि आप अपने सप्लायर की सूची को नियंत्रित नहीं करते हैं। यदि वे आउट ऑफ स्टॉक होते हैं|

तो आपके ग्राहक कम होने लगते है| और आप भी बिजनस से लगभग बाहर हो जाते हैं।

* कम लाभ

इसमे आपको कम लाभ इसलिए मिलता है क्यूंकी आप बहुत बड़ी मात्रा में समान नहीं खरीदते जिससे प्रोडक्ट की लागत कम नहीं होती है|

यदि आप ड्रॉपशीपिंग का उपयोग करके बहुत सारा पैसा कमाना चाहते हैं, तो आपको आधिक से अधिक उत्पादों को बेचना होगा या फिर अपना वेयरहाउस भी रख कर सामान बेच सकते है|

* खराब कस्टमर सर्विस

यदि आपका सप्लायर देर से उत्पादों को वितरित करता है, या उन्हें नुकसान पहुँचाता है, गलत वस्तुओं को वितरित करता है, तो ग्राहक का अनुभव खराब होता है जिसका सीधा असर आपके बिजनस के ऊपर पड़ता है।

आपको ड्रॉप शिपिंग से जुड़ी जानकारी कैसी लगी अगर कुछ सवाल है तो कमेंट्स में जरूर पूछे|

2 thoughts on “ड्रॉप शिपिंग क्या है ? What Is DropShipping Business In Hindi?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *